Breaking News
दिल्ली BJP अध्यक्ष पद से मनोज तिवारी की छुट्टी, आदेश कुमार गुप्ता को मिली जिम्मेदारी !  |   ब्रेकिंग न्यूज़ देवरिया करोना अपडेट  |  1 जून अंतरराष्ट्रीय बाल रक्षा दिवस पर विशेष  |  कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज सहित पूरा परिवार और दर्जनों भक्त कोरोना पॉजिटिव  |  पन्ना जिले में लगातार बढ़ रहा कोरोना का ग्राफ लोगो में दहसत का माहौल  |  लॉकडाउन 5.0 : 30 जून तक बढ़ा लॉकडाउन, तीन चरणों में होगा देश अनलॉक, जानें किस फेज में क्या खुलेगा !  |  30 मई हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर विशेष  |  अनुच्छेद 30- हिंदू बहुसंख्यक समाज की धार्मिक शिक्षा की आज़ादी का हनन है - वी के शर्मा  |  क्या है साइन लैंग्वेज और क्यों हमें इसको सीखना चाहिए ?  |  कैसे पहचानें कि दैवीय शक्ति आपकी मदद कर रही है, जानिए 11 संकेत !  |  
न्यूज़ ग्राउंड विशेष
By   V.K Sharma 12/09/2019 :14:44
रांची पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, झारखंड को दी 7 नई सौगातें !
Total views  1176





नई दिल्ली (न्यूज़ ग्राउंड) आकाश मिश्रा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह 11.30 बजे रांची पहुंचे। रांची हवाई अड्डे पर राज्यपाल, मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री ने उनकी आगवानी की।  झारखंड की राजधानी रांची में झारखंड विधानसभा के नए भवन का उद्घाटन किया। तीन राष्ट्रीय योजनाएं खुदरा दुकानदार पेंशन योजना, एकलव्य विद्यालय योजना और प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना भी शुरू कीं। साथ ही उन्होंने 299 करोड़ रुपए की लागत से तैयार साहिबगंज मल्टी मॉडल बंदरगाह का भी उद्घाटनकिया। मोदी इससे पहले 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रम में रांची पहुंचे थे। मोदी ने कहा किकानून और कोर्ट से खुद को ऊपर समझने वाले जमानत के लिए अदालत के चक्कर काट रहे हैं।जनता को लूटने वालों उनकी सही जगह पहुंचाने का संकल्प है। इस पर काम हो रहा है और कुछ लोग चले भी गए हैं।

1. देश का पहला पेपरलेस विधानसभा : 39 एकड़ में 465 करोड़ की लागत से कूटे में देश का पहला पेपरलेस विधानसभा भवन बनकर तैयार है। ऊर्जा दक्षता, ऊर्जा संरक्षण, जल संरक्षण, वर्षा जल संरक्षण की मिसाल और 60 फीसदी हरियाली के बीच ई-विधानसभा के हर विधायक के पास लैपटॉप होगा। 15 प्रतिशत बिजली पार्किंग पर लगे सोलर पैनल से उत्पादित सौर ऊर्जा से पूरी होगी। 57,220 वर्ग मीटर क्षेत्र में बने भवन पर 37 मीटर ऊंचा गुम्बद (ऐसा देश मे पहला) और झारखंड की कला संस्कृति की झलक खुद में समेटे हुए है। मुख्य गुम्बद पर आदिवासी समुदाय की मूल अवधारणा जल, जंगल और जमीन को स्थानीय सोहराय चित्रकारी से प्रदर्शित किया गया है। दो भागों में 162 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की गई है। 22 मंत्री कक्ष, 17 विधानसभा समिति कक्ष, मुख्य सचेतक, विधानसभा के पदाधिकारियों, कर्मचारियों के लिए माकूल प्रबंध किए गए हैं।
2. साहिबगंज मल्टी मॉडल बंदरगाह : समदा में विश्व बैंक की मदद से 5369 करोड़ की लागत से साहिबगंज मल्टी मॉडल बंदरगाह का पहला फेज तैयार है। पीएम मोदी ने ही अप्रैल 2017 में शिलान्यास किया था। अब उन्हीं के हाथों ऑनलाइन उद्घाटन के साथ झारखंड से देश और विदेश में व्यापार के द्वार खुलेंगे और रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। इस बंदरगाह से 2.24 मिलियन टन कार्गो का सालाना कारोबार होगा। पास में ही लॉजिस्टिक हब बनेगा। 
3. सचिवालय : नए विधानसभा भवन के समाने के पूर्वी और पश्चिमी ब्लॉक में नया सचिवालय बनेगा। इसमें मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, विभागों से जुड़े मंत्री, सचिव और पदाधिकारी-कर्मचारी बैठेंगे। सरकार का कामकाज यहीं से संचालित होगा। 23.60 लाख वर्ग फीट में बनने वाले पूर्वी और पश्चिमी ब्लॉक में आने-जाने के लिए अंडर पास होगा। 
4.एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय : पीएम 462 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों देश के नाम किया। झारखंड में 69 एकलव्य स्कूल और बनेंगे। केंद्र सरकार ने 23 स्कूलों के लिए 524 करोड़ रुपये की स्वीकृति दे दी है। राज्य में कक्षा छह से 12वीं वाले सात एकलव्य स्कूलों का संचालन हो रहा है। केंद्र सरकार हर छात्र के लिए सालाना 1.09 लाख रुपये अनुदान भी देगी। भवन की लागत भी केंद्र पोषित है।
5. खुदरा व्यापारिक दुकानदार व स्वरोजगार पेंशन योजना : इसमें 18 से 40 साल के व्यापारी व दुकानदारों का पंजीकरण रजिस्ट्रेशन किया जायेगा और 60 साल की उम्र होने पर हर महीने से तीन हजार रुपये का पेंशन दिया जाएगा। 
6. पीएम वन धन योजना  : योजना गांव के उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय बाजार देने के लिए लांच होगी। झारखंड के वनोत्पाद को 190 देशों में ऑनलाइन बेचा जाएगा। योजना के तहत 27 राज्यों के 307 जनजातीय जिलों में बसे 5.5 करोड़ जनजाति लोगों के सशक्तिकरण की शुरुआत होगी। हर साल 30 हजार सेल्फ हेल्प ग्रुप बनाए जाएंगे। सरकार हर वन धन विकास केंद्र को 15 लाख की वित्तीय सहायता देगी। पैकेजिंग और मार्केटिंग रिटेल नेटवर्क के जरिये होगी। निजी क्षेत्र की भागीदारी भी होगी। 
7. किसान मानधन योजना : 18 से 40 वर्ष के उम्र के किसानों को उम्र के आधार पर 55 से 200 रुपये प्रति माह पेंशन निधि में अंशदान जमा करना होगा। किसानों को 60 साल की उम्र पूरी होने के बाद 3000 रुपये हर महीने पेंशन मिलेगी। मृत्यु होने पर आश्रित पति या पत्नी को पारिवारिक पेंशन के तौर पर 50 फीसदी मासिक पेंशन मिलेगी। झारखंड में इस योजना के अंतर्गत 1.16 लाख किसानों का निबंध हो गया है। पहले चरण में एक लाख किसानों को लाभ देने का लक्ष्य है। 
5 साल में कई संकल्प बाकी : प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘झारखंड के विधानसभा का भवन लोकतंत्र का तीर्थस्थान है। जहां आने वाली पीढ़ियों के सपने साकार होंगे। युवा इसे देखने जरूर जाएं। आपने नई सरकार में संसद का पहला सत्र देखा होगा। इस बार यह आजाद भारत के इतिहास में सबसे ज्यादा प्रोडक्टिव रहा। देर रात तक संसद चली और घंटों तक बहस हुई। कई जरूरी कानून बनाए गए। इनका श्रेय सभी दलों के सदस्यों को भी जाता है। विकास हमारी प्राथमिकता और प्रतिबद्धता भी है। आज देश सबसे तेज गति से चल रहा है। जिन लोगों ने खुद को कानून और अदालतों से ऊपर समझ लिया था वो आज जमानत के लिए अदालतों के चक्कर काट रहे हैं। अभी तो यह शुरुआत है। पांच साल बाकी हैं। बहुत से संकल्प बाकी हैं।’’
‘गैस कनेक्शन देकर जीवन आसान बनाया’ : मोदी ने कहा, ‘‘गरीब को अब लाखों रुपए देकर इलाज नहीं कराना पड़ रहा है। हमारी सरकार ने गरीब के जीवन को आसान बनाने और उसकी चिंता कम करने का पूरा प्रयास किया। पहले वे टीकाकरण से छूटने पर गंभीर बीमारियों की चपेट में आ जाते थे। गरीबों के बैंक खाते खुलवाए, उन्हें शौचालय की सुविधा और गैस कनेक्शन देकर जीवन आसान किया।’’ 
‘‘झारखंड के बच्चों में खेल का सामर्थ्य है। सरकार हर स्कूल में आदिवासी बच्चों पर साल में एक लाख रुपए खर्च करेगी। सुदूर इलाकों में सकड़े बनाई गईं, आने वाले वक्त में रेलवे, वॉटरवे और हाईवे को मजबूती मिलेगी। पहले जिस तरह से घोटाले होते थे, उस स्थिति में बदलाव राज्य की रघुवर दास सरकार ने किया है।’’



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv