Breaking News
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का दिल का दौरा पड़ने से 67 वर्ष की उम्र में निधन, दिल्ली के एम्स अस्पताल में ली अंतिम सांस !   |  जम्मू कश्मीर से हटा अनुच्छेद 370 ,लद्दाख होगा केंद्र शासित प्रदेश, जानें क्या है अनुच्छेद 35A तथा अनुच्छेद 370 !  |  दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का 81 साल की उम्र में निधन, अस्पताल में पड़ा दिल का दौरा, कल होगा अंतिम संस्कार !   |  भारत रक्षा मंच के स्थापना दिवस पर विचार गोष्ठी का आयोजन   |  बाबरपुर विधायक मोहल्ला क्लीनिक के नाम घोटालों को दे रहे है अंजाम---वी के शर्मा  |  गोरखपुर: गाड़ी न मिलने पर निकाह के बाद हुआ जमकर हंगामा   |  जे.पी.नड्डा बने भाजपा के नए राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष , शाह बने रहेंगे पार्टी चीफ !   |  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पीएमओ स्टाफ को संबोधित करते हुए कहा "थैंक्यू" बोले - समर्पित टीम के बिना नहीं मिलता परिणाम, खुद के अंदर लीडरशिप होना बहुत जरूरी - पीएम मोदी   |  पीएम मोदी को NDA संसदीय दल ने चुना अपना नेता , राष्ट्रपति से मिलकर पेश किया सरकार बनाने का दावा , कहा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास हमारा मंत्र - मोदी  |  CBSE Board 2019 : 10वीं और 12वीं कंपार्टमेंट की डेटशीट जारी, जाने पूरी जानकारी ।  |  
संपादक
By   V.K Sharma 15/03/2019 :11:01
बोइंग की साख पर सवाल
Total views  450
इथियोपियन एयरलाइंस हादसे के बाद बोइंग 737 विमान संकट से घिर गए हैं। कई देशों में इनको असुरक्षित मानकर इनकी उड़ान पर रोक लगा दी गई है। इन देशों में चीन, ऑस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया और सिंगापुर शामिल है। इथियोपियन एयरलाइंस ने भी मैक्स 8 विमानों की उड़ान फिलहाल रोक दी है। पिछले रविवार को उड़ान भरने के कुछ ही मिनटों बाद हुए इस हादसे में 157 लोगों की मौत हो गई।

हादसे का शिकार हुआ विमान बोइंग 737 मैक्स 8 था, जो एक नया विमान है। इथियोपियन एयरलाइंस के प्रवक्ता ने बताया कि एयरलाइन ने सभी आठ विमानों की उड़ान पर अगली सूचना तक रोक लगा दी है। एयरलाइन फिलहाल पांच विमान उड़ा रही थी, जिनमें से एक हादसे का शिकार हो गया। एयरलाइन 25 और विमानों की डिलीवरी का इंतजार कर रही है। उधर चीन की सरकारी विमानन कंपनी ने भी इन विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी है। चीन के नागरिक विमानन प्रशासन ने अपने आदेश में कहा कि सुरक्षा पर जोखिम में जीरो टॉलरेंस के सिद्धांत के आधार पर प्रबंधन ने यह फैसला किया है।

चीन के विमानन प्रशासन ने कहा है कि वह अमेरिका के संघीय विमान प्रशासन और बोइंग से चर्चा के बाद इस बारे में और नोटिस जारी करेगा। चीन की सरकारी विमानन कंपनी 76 बोइंग 737 का उपयोग कर रही हैं और उसे 104 और विमानों का इंतजार है। भारत में जेट एयरवेज और स्पाइस जेट एयरलाइंस भी इन विमानों का उपयोग करते हैं। भारतीय मीडिया में ऐसी खबरें आ रही हैं कि नागरिक विमान प्राधिकरण ने इन एयरलाइनों से इस विमान के बारे में जानकारी मांगी है। आशंका जतार्इ  जा रही ह ै कि भारत म ें भी इन विमानो ं के उडा़ न पर तात्कालिक रोक लगार्इ  जा सकती है। इससे पहले इंडोनेशिया के राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा विभाग ने इस हादसे की जांच में सहयोग की पेशकश की है। एथियोपियन एयरलाइंस हादसे की तरह ही इंडोनेशिया के लायन एयर जेट का विमान भी बीते साल उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद हादसे का शिकार हो गया था। बोइंग कंपनी का मुख्यालय शिकागो में है। बोइंग 737 विमान एयरलाइन उद्योग के लिए काफी सफल विमान माना जाता रहा ह।ै मक्ै स 8 इसका नया सस्ं करण ह।ै बोइगं न े करीब 350 मक्ै स विमान दुि नया म ें बेचे हैं और इसके पास 5,000से ज्यादा विमानों का ऑर्डर है। लेकिन अब ये सब खटाई में पड़ सकते हैं।



V.K Sharma
Editor in Chief
Live Tv
»»
Video
»»
Top News
»»
विशेष
»»


Copyright @ News Ground Tv